beach, couple, leisure

प्यार क्या होता है

प्यार जिंदगी का वह रंग है, जो शहद की तरह पारदर्शी व मीठा है। प्यार है, तो सब कुछ है। प्यार नहीं, तो कुछ भी नहीं है। तो प्यार, क्या होता है? प्यार मानवता का वह सार है जो एक पुरुष और एक महिला तक नहीं सीमित है। प्यार इत्र की तरह सब जगह फैला है। सबका मन जीता जा सकता है।

प्यार चेहरे की सुंदरता को नहीं देखता है । वह पवित्र होता है यह सारी बातें बचपन से सुनते चले आ रहे हैं। प्यार में ऐसा होता है। वैसा होता है। लेकिन जानने की इच्छा यह होनी चाहिए की प्यार में डूबे लोग कैसे होते हैं? क्या सोचते हैं? उनका व्यवहार कैसा होता है? कब पता चलता है कि वह प्यार में पड़ गए हैं। प्यार झूठा है या सच्चा कैसे पता चलेगा? कैसे पता चलेगा कि प्यार की शिद्दत जो एक तरफ से है। सच में क्या दूसरी की तरफ से भी है। प्यार धोखा तो नहीं है या कोई छलावा तो नहीं है। इसलिए पारखी नजर रखनी पड़ेगी।

यह सब जानने के लिए आंखें खुली और दिमाग को धार करना पड़ता है। आप तभी यह सब समझ पाएंगे जब आपका व्यक्तित्व निष्पक्षता का लेख होगा और सद्गुणों का ओस होगा। जब आपका व्यक्तित्व निष्पक्षता के भाव के प्यार में बहेंगा और फिर सद्गुणों का रूप लेकर सबको मोहित करेंगे।

प्यार सच्चा है या झूठा

प्यार दो तरह का होता है या तो सच्चा होगा या तो झूठा होगा। प्यार कभी भी मझदार में नहीं रहता है। या तो आर होगा या तो पार होगा। प्यार हर रिश्ते में होता है। बचपन से रिश्ते जो हमें मिलते हैं। उनका आदर सम्मान और उनकी इज्जत बचपन से करते चले आते हैं। बड़े या बड़े बूढ़े होने के लिहाज से उनका आदर भाव करते चले आते हैं। लेकिन सच तो यह है की प्यार में धोखा अक्सर जीवनसाथी के चुनाव में मिलता है।

जब किसी के साथ जिंदगी बिताने के सपने देखते हैं। तब अक्सर प्यार मे सच झूठ में अंतर नहीं कर पाते हैं। तब प्यार की परिभाषा बदल जाती है। तब प्यार अंधा हो जाता है। आंखें बंद कर लेते हैं। और दिमाग को जंग लगने देते हैं। फिर प्यार मन के बहकावे से चलने लगता है। जो मन करता है। वह करने लगते है। जो मन कहने लगता है। अगर मन कहता है। अच्छा है, तो अच्छा है। अगर मन कहता है। खराब है।, तो खराब है अक्सर प्यार में यहीं पर गलती हो जाती है जब प्यार मन से चलने लगता है तब प्यार अक्सर अंधा हो जाता है और इसलिए तभी ज्यादातर प्यार में धोखा मिलता है

कैसे पहचाने प्यार सच्चा है या झूठा

अगर आप किसी से प्यार करते हैं और आपको पता करना है कि प्यार सच्चा है या झूठा तो सबसे पहले उस मनुष्य का व्यवहार देखिए कि उसका व्यवहार अपने आसपास अपने मां-बाप रिश्तेदारों से कैसा है जिस मनुष्य का व्यवहार सभी से अच्छा होगा वह सही मायने में बेहतर इंसान होगा और सबसे बड़ी बात उस मनुष्य की सोच कैसी है उसकी सोच और उसके व्यवहार में मिलान होता है कि नहीं यह पर रखना पड़ेगा अगर मिलान नहीं होता है तो इसका मतलब जो इंसान अंदर से है वह बाहर से नहीं है वह फरेब है चालबाज है धोखा है छल है यह बात समझनी होगी

ज्यादातर मनुष्य दिखावे में विश्वास नहीं करते हैं और अपने व्यवहार में अवसर मिलने पर फेरबदल नहीं करते हैं अगर ऐसा मनुष्य आपको प्यार करता है तो वह प्यार की अहमियत को समझता है जिसके साथ वह लंबे समय तक रह रहा है अगर उन लोगों को किसी प्रकार का धोखा नहीं मिला है फिर चाहे उसके मां-बाप हो या फिर रिश्तेदार आस पड़ोस में ही क्यों ना हो अगर व्यवहार सकारात्मक है तो इसका मतलब आप के प्रति प्यार सच्चा है अगर यह सब नकारात्मक दिखता है तब खुद को विराम देकर थोड़ा चिंतन कर आगे बढ़े जीवन को आगे बढ़ाना चाहिए ठोकर खाने से अच्छा है कि समय रहते ही संभल कर चलना चाहिए क्योंकि प्यार अंधा नहीं होता है उसको मन की चंचलता ने अंधा बना दिया है

सबसे जरूरी और अहम बात यह है की जहां प्यार में गिड़गिड़ाना पड़े। उसको अपने आसपास रोकने के लिए रोना पड़े, हाथ पाव जोड़ना पड़े, तब उस प्यार को खुला छोड़ देना चाहिए। तथा आजाद कर देना चाहिए। क्योंकि यहां पर प्यार आप और सिर्फ आप कर रहे हो। सामने वाला प्यार को कब का भूल गया है। वह आपका साथ पहले ही छोड़ चुका है।

प्यार खुशी देता हैआंसू नहीं। प्यार में कभी भी अपेक्षाएं मत रखिए क्योंकी जहां अपेक्षाएं होती है वहां सिर्फ और सिर्फ स्वार्थ होता है । और स्वार्थी जीवन कभी दूसरे से प्यार नहीं कर सकता है, क्योंकि प्यार इन सबसे ऊपर है। जैसे मां- बाप, भाई -बहन, रिश्तेदारआदि का प्यार अपेक्षाओं से परे होता है। इसीलिए यह रिश्ते जीवन के अंत तक चलते हैं।

Discliamerयहां पर लिखी सभी post किसी भी धर्म, मानवता के विपरीत नहीं है। यह केवल सिर्फ मेरे विचार हैं। जो केवल reader को अपने विचारों से अवगत कराना है। मेरे विचारों से सहमत होना या ना होना यह उनके विचारों पर निर्भर करता है। यहां जो भी content है, उसके सारे copyright, neetuhindi.com के हैं।

 44 total views,  2 views today

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *