भारतीय संविधान में अनुच्छेद 19 के तहत भारतीय नागरिकों को स्वतंत्रता का अधिकार प्रदान किया गया है ।आइए एक-एक करके देखते हैं कि स्वतंत्रता का अधिकार हमें किन-किन क्षेत्रों में मिला है। भारतीय नागरिक अपने अधिकारों का कैसे निर्वहन करते हैं।

भारतीय संविधान मेंअनुच्छेद 19- बोलने की स्वतंत्रता (अभिव्यक्ति की आजादी) बोलने से यहां अर्थ है कि आप अपने विचार किसी भी माध्यम से प्रस्तुत कर सकते हैं फिर चाहे वह चित्र बनाकर ,कहानी के रूप में, बोलकर या लिखकर आदि तरीके से प्रस्तुत कर सकते हैं।

अनुच्छेद 19 (a)- प्रेस की स्वतंत्रता

कल्याणकारी राज्य

किसी भी राज्य सरकार का काम होता है कि वह अपने राज्य मे शांत और नागरिकों को सुरक्षित बनाए रखें । राज्य का विकास तभी संभव है जब राज्य में शांति और कानून व्यवस्था का पालन हो । अब बात स्वतंत्रता की है तो बात अपने अधिकारों की भी है ।वह अधिकार जो हमें भारत में संविधान के तहत अनुच्छेद 19 में नागरिकों के हितों के लिए दी गई है । स्वतंत्रता का अधिकार भारतीय संविधान ने भारत में रहने वाले प्रत्येक नागरिक को प्रदान किया है ।

रिपब्लिक भारत कि पत्रकारिता

इसी स्वतंत्रता के अधिकार में प्रेस की स्वतंत्रता का अधिकार आता है । इसीलिए इसको चौथा स्तंभ कहा जाता है । पत्रकारिता में सच्चाई की पारदर्शिता मिसाल होती है । समाचार चैनलों की वजह से कितनी खबरे सरलता पूर्वक अपने घर से देख सकते हैं ।देश दुनिया की खबर ले सकते हैं। समाचार चैनलों पर अगर जंजीर का ताला लगा दिया जाए तो कैसे वह पत्रकारिता की सच्चाई दिखा पाएगा । बात यहां पर रिपब्लिक भारत की हो रही है । जिस पर प्रतिबंध लगाने की पुरजोर कोशिशें की जा रही हैं। क्या तानाशाही से सच्चाई को मिटाया जा सकता है । क्यों दिशा सालियन और सुशांत सिंह राजपूत की हत्या को आत्महत्या घोषित किया गया । अगर समाचार चैनलों की पारदर्शिता नहीं होती तो यह मामला कब का थम गया होता। लेकिन रिपब्लिक भारत ने इस मामले को थमने नहीं दिया। सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या थ्योरी बेकार हो गई।

बॉलीवुड के कुछ अभिनेता परदे के हीरो

भारत का नागरिक इसी अधिकार के तहत यह जानना चाहता है कि रिपब्लिक भारत न्यूज़ चैनल के प्रसारण को महाराष्ट्र के केबल ऑपरेटर क्यों बंद कर रहे हैं ?क्यों यह महाराष्ट्र में हो रहा है ?महाराष्ट्र वीर मराठा ओं की जन्मभूमि है । फिर क्यों कुछ लोग टीवी चैनल के प्रसारण को बंद करने का निर्यण ले रहे हैं ।अगर बात करते हैं बॉलीवुड की तो बॉलीवुड महाराष्ट्र का ही नहीं पुरे भारत का है क्योंकि बॉलीवुड केवल मनोरंजन सामग्री प्रस्तुत करता है लेकिन उसके उपभोक्ता भारत के पूरे राज्य में फैले हैं ।बॉलीवुड को बॉलीवुड बनाने में भारत का प्रत्येक नागरिक शामिल है । महाराष्ट्र को आर्थिक मजबूती प्रदान करने के लिए भारत का प्रत्येक नागरिक का सहयोग है। इसलिए महाराष्ट्र की खबर जानने का पूरा अधिकार पूरे भारत को है । देश ने यूपी बिहार का एक होनहार अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को खोया है ।उसकी मौत का सच जानने का अधिकार पूरे देशवासियों का है। महाराष्ट्र के कुछ शक्तिशाली लोग हमें अपने अधिकार से वंचित नहीं कर सकते रिपब्लिक भारत के साथ य अन्य किसी समाचार चैनलों के साथ अत्याचार नहीं सहेगा ।भारत का प्रत्येक नागरिक, हर एक जन अपने माध्यम से इसका विरोध दर्ज करेगा

रिपब्लिक भारत के चीफ एडिटर अर्णब गोस्वामी की सच्ची पत्रकारिता

रिपब्लिक भारत के चीफ एडिटर अर्णब गोस्वामी ने सच्चाई को पाताल से खोज कर निकाला है ।अन्यथा सुशांत सिंह राजपूत की मौत को आत्म हत्या घोषित कर दिया गया था ।इसके पीछे की राजनीत अर्णव गोस्वामी ने खोली है ।प्यार ,धोखा ,रुपया पैसा और ड्रग्स का षड्यंत्र रिपब्लिक भारत ने सच्चाई सामने लाकर सामने खड़ी कि है। रिपब्लिक भारत को जनसमर्थन है क्योंकि अभी भी दुनिया सच के बलबूते पर ही चल रही है।

रिपब्लिक भारत ने उठाये सच्चे मुद्दे

रिपब्लिक भारत में सुशांत सिंह आत्महत्या का मुद्दा उठाया था ।अब यह मुद्दा केवल सुशांत सिंह का मुद्दा नहीं रह गया है । यह अवैध नशीले पदार्थों का मुद्दा बन चुका है । जिसकी रोकथाम होना आवश्यक है ।इस को जड़ से नेस्तनाबूत करना एक लक्ष्य होना चाहिए ।देश के युवाओं का भविष्य सहेजना चाहये । अब केवल रिपब्लिक भारत का नहीं ,पूरे देश की जनता का लक्ष्य है कि नशीले पदार्थों का अंत होना चाहिए ।

बॉलीवुड में गैंग

बॉलीवुड से पहचाना जाने वाला मुंबई क्या अब नशीले पदार्थों से जाना जाएगा । क्या अब मुंबई माफिया का आतंक बन जाएगा या उन कलाकारों को बचाया जाएगा जो नशीले पदार्थों में लिप्त हैं । मुंबई को नशीले पदार्थों से आजाद होना चाहिए। लगता है बॉलीवुड अब नशेड़ियों का पसंदीदा ठिकाना बन चुका है । जैसे लगता है बहुत से अभिनेतायों का नशेड़ियों से सम्बन्ध है या उनकी गैंग में शामिल हैं।

मेरा मानना है कि महाराष्ट्र को सिर्फ और सिर्फ मराठों के जन्म भूमि से ही पहचाना जाना चाहिए क्यों कि मुंबई में नशा माफिया राज्य पर कलंक है । इसी कलंक को मिटाने का काम करना चाहिए । हमें एकजुट होकर रिपब्लिक भारत का साथ देना चाहिए तथा उसके साथ होने वाले अन्याय पूर्ण कृतियों का पुरजोर विरोध करना चाहिए। जय हिंद……

Disclaimer – यहां पर लिखी सभी post किसी भी धर्म, मानवता के विपरीत नहीं है। यह केवल सिर्फ मेरे विचार हैं। जो केवल reader को अपने विचारों से अवगत कराना है। मेरे विचारों से सहमत होना या ना होना यह उनके विचारों पर निर्भर करता है। यहां जो भी कंटेंट है उसके सारे copyright, neetuhindi.com के हैं।

 173 total views,  1 views today

95% LikesVS
5% Dislikes
4 thoughts on “Republic Bharat news channel-part 2”
  1. नीतू जी, आपका धन्यवाद, रिपब्लिक भारत का ये जनसमर्थन जिस गति से चल रहा है, मुझे उम्मीद है, की हम उसी गति से सुशांत को न्याय दिलवा पाएंगे, हम बॉलीवुड के एक गिरोह का जल्द पर्दाफाश करेंगे, हमे आपके जैसे दर्शको से सहयोग और समर्थन की उम्मीद है। वैसे आपको जानकार ख़ुशी होगी, की हमने हाल ही में हिंदी न्यूज़ चेंनल आजतक को पछाड़ कर नंबर एक की जगह प्राप्त की है। यह सब आप जैसे दर्शको की मदद से ही हो पाता है। आपके सहयोग सुझाव और समर्थन के लिए भारत टीम आपका धन्यवाद करता है।

  2. आप ने comment किया उसका आभार व्यक्त करती हूँ ये मेरी लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *